27 C
Mumbai
Saturday, September 23, 2023

आजमगढ़ में अब गरीबों को मिलेगी FREE में शरण

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img
Share this

आजमगढ़ में अब गरीबों को मिलेगी FREE में शरण

आजमगढ़:जिला अस्पताल के प्रांगण में बने आश्रय गृह से आजमगढ़ के गरीबों को अब ठंड से बचने के लिए शरण मिलेगी।सरकारी अस्पताल में आने वाले मरीज ,सड़क की पटरी पर रहने वाले गरीब दुकानदार लोग इसमें बिना कोई पैसा दिए हुए शरण ले सकते हैं ।

आश्रय गृह के केयर टेकर शैलेश यादव
आश्रय गृह के केयर टेकर शैलेश यादव

इस आश्रय गृह में करीबन 100 लोगों को रुकने की व्यवस्था सरकार ने की है और उनके सामान की सुरक्षा के लिए भी सरकार ने लाकर भी उपलब्ध कराए हैं । जिला अस्पताल परिसर में शहरी आजीविका मिशन योजना के अंतर्गत इस रैन बसेरा का आजमगढ़ शहर में निर्माण किया गया है । 3 मंजिला इस भवन में बड़े हाल में कई सिंगल बेड की व्यवस्था की गई है | अलग-अलग मौसम के अनुसार अलग-अलग बिस्तर की भी व्यवस्था की जा रही है | ग्राउंड फ्लोर पर एक हाल में एक साथ करीबन 25 लोग रुक सकते हैं ।

दूसरे व तीसरे मंजिलें पर एक साथ 75 लोगों के भी रुकने की व्यवस्था की गई है । सरकार ने यहां पर शौचालय और नहाने की भी सुविधा की है । अतिथि बाहर से भोजन लाकर यहां पर बड़े आराम से कर सकते हैं ।अपने साधनों से यहां पर भोजन भी बनाने की व्यवस्था सरकार ने की है । सभी के सामान की सुरक्षा के लिए यहां पर सरकार ने लाकर का भी इंतजाम किया है।

5 कर्मचारी देंगे 24 घंटे आश्रय गृह को सेवा

मौके पर आश्रय गृह के केयर टेकर शैलेश यादव ने बताया कि यहां पर 5 लोगों का स्टाफ है | जो यहां के रहने वालों को 24 घंटे तक निस्वार्थ भाव से सेवा देता है । इस हाल में शौचालय की भी सुविधा की गई है । यह सभी सुविधाएं ग्राउंड फ्लोर पर उपलब्ध है आगे इस आश्रय गृह के केयर टेकर शैलेश यादव ने बताया कि 1 माह में करीबन 1000 लोग यहां पर औसतन ठहर सकते हैं।
30 से 40 लोग प्रतिदिन यहां पर रात्रि के समय आते हैं | और जब भी कोई प्रतियोगी परीक्षा होती है तो सभी बेड अपनी कैपेसिटी से ज्यादा हो जाते हैं और यह सभी सुविधाएं सभी के लिए निशुल्क हैं |

Share this
- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here