25 C
Mumbai
Sunday, February 25, 2024

मुलायम सिंह यादव के बारे में रोचक तथ्य

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img
Share this

मुलायम सिंह यादव के बारे में रोचक तथ्य

श्री मुलायम सिंह यादव भारतीय राजनीति में एक वरिष्ठ नेता की हैसियत रखते हैं । मुलायम सिंह यादव को समाजवादी पार्टी के संस्थापक सदस्यों में से एक माना जाता है । इनका जन्म 22 नवंबर 1939 को हुआ था । मुलायम सिंह यादव पहली बार 1996 में 11 वीं लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए थे वर्ष 1996 और 1998 के बीच गठबंधन की सरकार में भारत के रक्षा मंत्री के रूप में भी उन्होंने अपनी अभूतपूर्व सेवाएं दी थी

पारिवारिक बैकग्राउंड

मुलायम सिंह यादव का जन्म एक गरीब किसान परिवार में हुआ था। उत्तर प्रदेश में इटावा जिले के सैफई गांव में उनका जन्म हुआ था ।उनके पिता का नाम श्री शुधर यादव और माता का नाम श्री मूर्ति यादव था । मुलायम सिंह यादव जी का विवाह मालती यादव से हुआ था । जिससे उनका एक पुत्र पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव हैं । मालती यादव का 2003 में स्वर्गवास हो गया । उनकी दूसरी पत्नी का नाम साधना गुप्ता है । दूसरे पुत्र प्रतीक यादव है।

मुलायम सिंह यादव की शिक्षा दीक्षा

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन पर कुछ अनसुने सच
उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन पर कुछ अनसुने सच

मुलायम सिंह यादव केके कॉलेज इटावा राजनीति विज्ञान एमए की डिग्री प्राप्त की और 1960 में हो राजनीति में शामिल हो गए

राजनीतिक कैरियर

1960 में मुलायम सिंह यादव ने राजनीति में प्रवेश किया
1967 में मुलायम सिंह यादव पहली बार विधानसभा का चुनाव जीता इसके बाद क्रमशः 1974 1977 1985 1989 1991 1993 1996 2004 और 2007 में विधायकी का चुनाव जीता
1976 में विधायक समिति के मेंबर बने
1977 में सहकारी एवं पशुपालन मंत्री बने
1980 में लोकदल के अध्यक्ष चुने गए
1989 में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली
1992 में उत्तर प्रदेश की विधानसभा में विपक्ष के नेता बने
1993 से लेकर 1995 तक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में अपने कर्तव्यों का निर्वहन किया 1996 में उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले से पहली बार सांसद बने

मुलायम सिंह यादव की जीवन की उपलब्धियां

मुलायम सिंह यादव के कार्यकाल में समाजवादी पार्टी ग्रामीण अंचल के रहने वाले लोग जो पिछड़े तबके से आते थे । उनके लिए यह आवाज उठाने का जरिया बन गई ।लोगों की नजरों में मुलायम सिंह यादव मसीहा कि नजर में देखे जाने लगे ।जो सीना ठोक कर पिछड़ों के हक की बात करते थे मुलायम सिंह यादव ने जो समाज कल तक पिछड़ा ,दबा, कुचला था उस वर्ग के सामाजिक और राजनैतिक स्तर को ऊंचा उठाने के लिए समाजवादी पार्टी को की स्थापना की।

मुलायम सिंह यादव पर प्रकाशित हुई पुस्तकें

अंशुमन यादव ने मुलायम सिंह पर एक किताब लिखी किताब का नाम है मुलायम सिंह : एक राजनीतिक जीवनी
लेखक अशोक कुमार शर्मा ने भी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव पर एक किताब लिखी है ।

मुलायम सिंह यादव: चिंतन और विचार

हिंदी भाषा में सभी ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है आप बड़ी आसानी से खरीद सकते हैं ।
इसके अलावा अपने राजनीतिक जीवन के आखिरी पड़ाव में भी मुलायम सिंह यादव मैनपुरी और आजमगढ़ दो लोकसभा चुनाव से चुनाव लड़े और 2014 के लोकसभा चुनाव में दोनों ही संसदीय क्षेत्र से मुलायम सिंह यादव भारी बहुमत से जीते । हालांकि बाद में मुलायम सिंह यादव ने आजमगढ़ की संसदीय क्षेत्र को अपने पास रखा और मैनपुरी को छोड़ दिया था ।बाद में आजमगढ़ वाली सीट पर श्री अखिलेश यादव ने भी चुनाव लड़ा और धमाकेदार जीत हासिल की ।अखिलेश यादव आजमगढ़ को समाजवादियों का दूसरा घर भी बताते हैं तो आप समझ सकते हैं कि आजमगढ़ मुलायम सिंह यादव को कितना प्रिय संसदीय क्षेत्र है ।

जब मुलायम सिंह यादव पर चली गोली 

Share this
- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here