25 C
Mumbai
Sunday, February 25, 2024

Suknya Devi Rape Case And Role Of Rahul Gandhi 

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img
Share this

Suknya Devi Rape Case And Role Of Rahul Gandhi

Suknya Devi Rape Case And Role Of Rahul Gandhi 
Suknya Devi Rape Case And Role Of Rahul Gandhi

अक्सर गाहे-बगाहे कई न्यूज़ चैनल और संबित पात्रा तो सबसे ज्यादा दिन-रात कांग्रेस पार्टी और राहुल गांधी पर इल्जाम लगाते हैं कि Suknya Devi Rape Case नाम की महिला के साथ राहुल गांधी ने बलात्कार किया है लेकिन सच्चाई क्या है आज तक कोई भी सामने नहीं ला पाया ।

Suknya Devi Rape Case Kab KI Hai

यह घटना 3 दिसंबर 2006 के दिन Amethi के सर्किट हाउस में घटी थी । यह इतनी बड़ी खबर थी लेकिन इसे ना तो किसी न्यूज़ चैनल लेना ही किसी अखबार ने ना ही किसी न्यूज़ पोर्टल में इसे दिखाना उचित समझा । हद तो यह है जिस व्यक्ति ने इस बारे में जिसने कोर्ट में याचिका दाखिल की उसके ऊपर कोर्ट ने उल्टा जुर्माना ठोक दिया ।
वही सुकन्या देवी का परिवार और Suknya Devi आज तक लापता है। सच्चाई यह भी है ,थ्योरी में यह भी कहा जाता है कि पीड़िता सोनिया गांधी से बात करने दिल्ली गई लेकिन वापस कभी गांव लौट कर आई ही नहीं। आज Suknya Devi और उसका परिवार कहां पर है किसी को कुछ भी नहीं मालूम ।

Suknya Devi Rape Case And Kishor Samrite

लेकिन मामला एक बार वापस तब गरमा गया था। जब 2011 में समाजवादी पार्टी के मध्य प्रदेश के विधायक Kishor Samrite ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय में एक याचिका दाखिल कर दी और इस बलात्कार के मामले पर सुकन्या देवी के परिवार के गायब हो जाने की जांच की मांग भी की थी । अपनी याचिका में आप उनका यह लिंक देख सकते हैं जिसे इंडियास्पीक्सडेली के संदीप देव जी ने जब उनका इंटरव्यू किया था तब उन्होंने खुद बताया था कि कोर्ट ने उनके साथ क्या व्यवहार किया ।

इलाहाबाद हाईकोर्ट के सिंगल जज बेंच ने तत्कालीन राज्य सरकार पुलिस विभाग और इस मामले में आरोपी बनाए गए श्री राहुल गांधी को सूचना भेजा। यह इतनी बड़ी ब्रेकिंग न्यूज़ थी लेकिन किसी भी न्यूज़ चैनल या अखबार ने इसे छाने की कोशिश नहीं की । सारा का सारा मीडिया बिल्कुल खामोश पड़ा था विधायक Kishor Samrite ने अपनी याचिका में लिखा था । कि उन्होंने स्वयं जाकर सुकन्या देवी के गांव में जांच पड़ताल की जब से उन्हें सुकन्या देवी कांड की खबरें मिल रही थी और उनकी जांच में यह भी निकला कि परिवार सोनिया गांधी से मिलने दिल्ली गया उसके बाद उस परिवार का कुछ भी अता पता नहीं है ।

लेकिन मामले में दिलचस्प मोड़ तब ले लिया जब विधायक उच्च न्यायालय के जाने के बाद अचानक से कोर्ट में एक कीर्ति सिंह नाम की महिला ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय में अपनी अपील लगाई और उस अपील में महिला ने कहा कि इस केस में जो सुकन्या देवी नाम की महिला का चर्चा हो रहा है वह कोई और नहीं मैं ही हूं । इससे मेरी बदनामी हो रही है मामला दो जजों के पास था जिसमें MLA साहब का स्वयं कहना है कि उनका पक्ष सुने बिना ही बिना सबूत गवाह के जज साहब ने फैसला सुना दिया और सीबीआई को आदेश दिया कि जो भी व्यक्ति किसी भी माध्यम से इस खबर को फैलाए सब पर केस दर्ज किया जाए ।

और Kishor Samrite पर ही 50 लाख का जुर्माना लगा दिया और जो राहुल गांधी को नोटिस भेजा गया था वह बिना किसी सुनवाई के खत्म हो गई ।

लेकिन विधायक Kishor Samrite भी कहां शांत बैठने वाले थे और इसके तुरंत बाद इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले के विपरीत तुरंत सुप्रीम कोर्ट चले गए । यहां तक कि मामला जब सुप्रीम कोर्ट तक चला गया तब भी मीडिया और अखबार वाले पूरी तरह शांत थे इस मामले पर एक शब्द भी लिखने को तैयार नहीं थे। इस मामले की सुनवाई 2012 के मध्य में चालू हो गई लेकिन तभी कहानी में फिर एक मोड़ आ गया जब एमएलए साहब ने स्वयं ही कह दिया कि वह जो कुछ भी कर रहे हैं सुकन्या देवी के मामले में सीधा सीधा उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव के कहने पर कर रहे हैं । जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने भी इस पूरे मामले को एक राजनैतिक साजिश मानते हुए एमएलए के ऊपर द्वारा 10 लाख का फाइन लगाकर सारे केस को रफा-दफा कर दिया ।

लेकिन तत्कालीन कुछ सुलगते हुए सवाल हैं जिनके जवाब आज तक कोई दे नहीं पाया |

  • पहला सुकन्या देवी 2006 से दिल्ली गई और आज 2020 चल रहा है उसके परिवार का कुछ अता पता नहीं है |
  • दूसरा अगर बीजेपी के संबित पात्रा हर बार मीडिया में लाइव कैमरे पर आकर हल्ला मचाते हैं कि राहुल गांधी बलात्कारी है तो स्वयं बीजेपी सरकार सीबीआई जांच की सिफारिश क्यों नहीं करती 

  • और अगर संबित पात्रा इस मामले पर झूठ बोल रहे हैं तो राहुल गांधी संबित पत्र पर मानहानि का केस दर्ज क्यों नहीं करवाते संबित पात्रा ने राहुल गांधी को बलात्कारी एक बार नहीं कम से कम दर्जनों बार लाइव टीवी पर बैठकर कहा है|
  • और अगर यह वाकई मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव की साजिश थी तो क्या अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव की औकात इतनी भी नहीं थी कि इस मामले को मीडिया में चलवा सकें

और रही बात कि राहुल गांधी जैसे और अप्रभावी नेता से सपा जैसी पार्टी को कैसा डर
इस पोस्ट में आपको जो भी जानकारी दी जा रही है आज आ रही है अशोक श्रीवास्तव की किताब नरेंद्र मोदी द सेंसर और इंडियास्पीक्सडेली के शो में जब संदीप देव जी ने विधायक किशोर समृतिका इंटरव्यू किया था| वहां से जुटाई गई है आपको सभी का लिंक इस पोस्ट में मिल जाएगा |

Share this
- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here