31 C
Mumbai
Thursday, June 13, 2024

पुरे भारत में आजमगढ़ को बदनाम करने आतंकवादी को मिली उम्रकैद

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img
Share this

आजमगढ़ के आतंकवादी को मिली उम्रकैद जिसके गिरफ्तारी पर महीने भर सुलगा था आजमगढ़

गोरखपुर के कुख्यात सीरियल ब्लास्ट में पूर्वांचल के जिहादियों के लिए सबसे कुख्यात जिला आजमगढ़ मॉड्यूल के आतंकवादी तारिक आजमी को अपर सत्र न्यायालय ने उम्र कैद की सजा सुनाई है ।आतंकवादी तारिक आजमी के खिलाफ पर्याप्त सबूत व जो भी आरोप लगाए गए थे सही साबित होने के बाद अपर सत्र के न्यायाधीश नरेंद्र कुमार सिंह ने फैसला सुनाते हुए तारीक काजमी पर ₹2,15,000 का जुर्माना भी लगाया है ।

कहां का रहने वाला है तारीक काजमी

आजमगढ़ मॉड्यूल का कुख्यात जिहादी तारिक काजमी आजमगढ़ जिले के रानी सराय के शंभूपुर गांव का निवासी है । अभियोजन पक्ष की ओर से सहायक जिला शासकीय वकील राम प्रकाश सिंह एवं शरदिंदु प्रताप सिंह का इस मामले पर कहना था कि इस मामले में कैंट थाना क्षेत्र के निवासी राजेश राठौर ने एक जागरूक नागरिक का फर्ज निभाते हुए तारिक काजमी पर मुकदमा दर्ज कराया था । राजेश राठौर का कहना था कि वह बलदेव पेट्रोल पंप के नजदीक सरस्वती एजेंसी में एक सेल्समैन के रूप में जॉब करते हैं। 22 मई 2007 के दिन करीबन शाम के 7:00 बजे बस स्वयं बलदेव पेट्रोल पंप पर मौजूद थे ।

अचानक नजदीकी जलकल इमारत की तरफ से एक धूम-धड़ाके की आवाज सुनाई देने लगी जिससे चारों तरफ अफरा-तफरी का माहौल हो गया अचानक फिर नजदीक के ही बलदेव पेट्रोल पंप की साइड में लगी साइकिल में जिस पर एक कपड़े का झोंला टंगा हुआ था उस में बम विस्फोट हुआ चारों तरफ की दुकान का शटर गिरने लगा लोग अभी अचानक कुछ समझ पाते कि क्या हो रहा है फिर अचानक तीसरा बम विस्फोट गणेश चौक पर हो गया । आनन-फानन में पुलिस भी मौका मुआयना करने पहुंच गई । और इन्हीं बम ब्लास्ट में विवेचना के दौरान आजमगढ़ मॉड्यूल का जिहादी तारिक काजमी का नाम पहली बार सामने आया ।

तारिक काजमी की गिरफ्तारी पर सुलगने लगा था आजमगढ़

रानी की सराय के थाना क्षेत्र का निवासी व आजमगढ़ मॉड्यूल का जिहादी तारिक काजमी को उत्तर प्रदेश की एसटीएफ ने दिसंबर 2007 मैं बाराबंकी रेलवे स्टेशन से एक अन्य जिहादी जो जौनपुर का निवासी था खालिद मुजाहिद उसी के साथ दोनों को गिरफ्तार किया गया था ।
इन दोनों जिहादियों के पास भारी मात्रा में अवैध असलहा गोला बारूद व अन्य विस्फोटक सामग्री भी मौके से बरामद हुई थी । जब उत्तर प्रदेश की एसटीएफ ने इन दोनों को गिरफ्तार किया उस समय प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी की सरकार थी ।

https://twitter.com/Deepak_Maddh/status/1341247639036125185?s=19

जैसे ही तारीक काजमी की गिरफ्तारी हुई पूरे आजमगढ़ में चक्का जाम से लेकर जगह-जगह विरोध प्रदर्शन व कई जगह तो भीड़ ने हिंसक प्रदर्शन किए । महीने भर तक आजमगढ़ की आबोहवा तनाव ग्रस्त हो गई थी ।

आने वाले समय में भी तारीक काजमी को लेकर सपा ,बसपा ,भाजपा में खूब राजनीति हुई । समाजवादी पार्टी सरकार ने तो यहां तक तैयारी कर ली थी की तारीक काजमी पर जो भी मुकदमे दर्ज हैं सभी को सरकार वापस ले लेगी । लेकिन बीच में कोर्ट ने अड़ंगा डाल दिया और समाजवादी पार्टी ने जो वादा किया था उसे पूरा करने में नाकामयाब हो गई । आज जब कोर्ट ने फैसला तारीक काजमी के खिलाफ सुना दिया है तो एक बार फिर जिहादियों के लिए सेफ हेवेन बन चुके आजमगढ़ मॉड्यूल मीडिया में चर्चा का केंद्र बना हुआ है ।

__________________________________________

विज्ञापन के लिए सम्पर्क करे 8286350497

__________________________________________

OHINDU अब टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है। यहां क्लिक करके आप FREE सब्सक्राइब कर सकते हैं।

अगर आप Ohindu की सारी खबरें अपने WhatsApp पर पढ़ना चाहते हैं तो 8286350497 नंबर को अपने Mobile में जरूर Save करें और WhatsApp पर News लिखकर भेज दें आगे से आपको सारी न्यूज़ WhatsApp पर मिल जाया करेगी

Share this
- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here